बुधवार, 24 जून 2009

ताकि लेखनी का धार बरकरार रहें

बन्धु ! मैंने अनेक बार आपके द्वारा लिखा गया आलेख को खोजने का प्रयत्न किया ,जिसमें आपने लिखा था कि कुछ ही लोगों द्वारा यदि ब्लागों को पढा जाए तो उसका महत्व क्या हैं ?मैने मात्र शीर्षक को देख कर अनुमान लगा रहा हूँ कि आप ब्लाग लिखने से परहेज करना चाहते है , कभी -कभी मैं आपके जैसे ही सोचने लगता हूँ , जबसे मुझे यह पता लगा कि गूगल ने हिन्दी में लिखने वालों को कोई भी पारिश्रमिक नहीं देता ,एवं दिल्ली के मेरे एक दोस्त ने मुझे बताया कि लगभग तीन वर्षों से पूर्व के नियमानुसार लेखन पर भी बकाया नहीं दिया हैं ,परन्तु विदेश में हिन्दी को यदि अंग्रेजी में लिखा जाए तो लेखकों को भुगतान किया जाता है। यदि यह सच हैं तो भारत में लिखने वालों के लिए कोई अच्छी खबर नहीं है। यदि बहुत ही स्पष्ट रूप से कहूँ तो यह एक आर्थिक और बौद्धिक शोषण ही हैं । हम लिखते रहे और उस लेखन से अरबों कमाने के बाद भी एक अंश तक देने में यदि गूगल नकारा साबित होता हैं तो हमें कुछ करना ही चाहिए । आज नेट में लगातार लिखते रहने से बहुत बड़ा रकम खर्च करना होता है और घर से अधिक समय तक रकम लगाना वर्तमान समय में बुद्धिमानी नहीं कहा जा सकता है ,स्थायी लेखन के लिए निश्चित रूप से कुछ न कुछ लाभ लेना अनूचित नहीं है। मात्र नकद प्राप्ति से मेरा अभिप्राय नहीं हैं , अन्य तरीके से भी लाभ पहूंचाया जा सकता है। अभी मल्टीफैल्क्स भी लाभ के मुद्दे पर लम्बी लड़ाई के पश्चात फिर से शुरू हो सका है। अत: यदि हम सभी एक मत से गूगल को हमारी भावना से अवगत करवाते हैं तो उसे निश्चित रूप से रास्ता निकालना ही पड़ेगा ,चूँकि जब विदशों में लाभ देने की व्यावस्था हैं और भारत में भी कुछ समय पूर्व यह लाभ मिलता रहा है, अचानक इसे बन्द करना सही नहीं कहा जा सकता है। मैंने जो कही हैं यदि उचित लगे तो एक मंच बनाकर आगे की कुछ रणनीति बनाई जा सकती है। पुराने साथी इस मुद्दे को अच्छी तरह समझ सकते हैं और उन्हें आगे आकर शालिनता से सबको नियम आदी बताकर सहयोग करना चहिए । दुनियॉ के तमाम समस्याओं पर लिखते हुए यदि इस पर लिखने और कुछ करने के लिए हमें संकोच हो तो लेखनी का धार खत्म होने में देर नहीं लगेगी ,जबकि हमें इसे बरकरार रखना है।

1 टिप्पणी:

  1. थोड़ा सा और सब्र करिये. जल्द ही समय आयेगा. कुछ लोगों को जोड़ते चलिये साथ मे. अभी हिन्दी में लिखने वाले बहुत काफी नहीं हुए हैं मगर बढोतरी संतोषजनक है और उत्साहित करने वाली है. अनेक शुभकामनाऐं.

    उत्तर देंहटाएं

translator