बुधवार, 2 सितंबर 2009

आन्ध्रप्रदेश के ५ सथिओं साथ मुख्यमंत्री राजशेखर रेड्डी हेलीकाप्टर सहित लापता -खोज जारी

आन्ध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री राजशेखर रेड्डी हेलीकॉप्टर से दौरे पर जा रहे थे ,सुबह हैदराबाद से चित्तूर जाने के कल सुबह 9.30 के बीच गॉव वालों ने हेलीकॉप्टर को देखा था और अचानक 9.35 के बाद हेलीकॉप्टर से सम्पर्क टुटने के बाद आभी 12 घन्टे तक कोई सूराग नहीं मिल पाया हैं । मिडिया ने खबर दी हैं कि सी एम कार्यालय से जानकारी मिली हैं कि सीएम सुरक्षित है । परन्तु सवाल उठता हैं कि हेलिकॉप्टर में जब इ एल टी सिस्टम लगी हुई हैं तो वह खामौश क्यों हैं ? इ एल टी अर्थात एमरजेंसी लोकेशन ट्रांसमिटर जो खतरे को भापते हुए जोर जोर से आवाज करने लगती हैं । यदि हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त नहीं हुई हैं ,तो उससे आवाज आना चाहिए था, पर वह चूप हैं जो एक बहुत बड़ा सवाल बनकर उभर रहा हैं । शाम ढलते ही खोज में निकली 7 हेलीकॉप्टर, खोज करना बंद कर दिया हैं कयोंकि रात को हेलीकॉप्टर खोज का काम नहीं कर सकता हैं । सेना सतर्क हो चूकी हैं और अब तक का सबसे बड़ा खोजी आपरेशन का कार्य शुरू भी कर दिया गया हैं ,सेना द्वारा सूखोई 30 को भी इस खोज मे लगा कर बहुत अच्छा किया हैं, यह वही सुखोई हैं जो रूस ने हाल ही में हमने ख़रीदा हैं, एक उच्च तकनीकी और रडार से लैस हवाई विमान द्वारा जंगलों में खोज कार्य में जूट चूकी हैं , इसरो भी मदद कर रही है । आगे किसी तरह की भी चूक न हो इसलिए अमेरिका से भी मदद मांगा गया हैं । कुल मिला कर देश में एक आपातकाल सा माहौल निर्मित हो चुका हैं । आलाकमान भी सक्रिय हो गया , श्रीमती सोनिया गान्धी ने भी आपात कालीन बैठक बुलाई हैं । केन्द्रीय गृह मंत्री ,प्रधान मंत्री सभी सी एम के लापता होने के कारण चिन्तीत हैं । मिडिया भी अपना जिम्मेदारी बखूबी निभा रही हैं । ऐसा लगता हैं कि बहुत ही जल्दी कामयाबी हाथ जरूर लगेगी ।ऐसी नाजुक समय में हम सभी को ईश्वर से प्रार्थना करना चाहिए ताकी बहुत बड़े खतरे से हम उबर सके । सबसे चिन्तनीय बात यह हैं कि जहॉं हेलीकॉप्टर से सम्पर्क कट चूकी हैं, वहॉं नक्सलीयों का गढ हैं और जंगलों से घिरा हुआ हैं , जंगल भी बीहड हैं अत: मुझे तो ऐसा लग रहा हैं कि नक्शली ,सी एम का अपहरण न कर लिया हो ! यदि नक्शली ऐसा करता हैं तो निश्चित ही फिरौती के नाम पर खूंखार साथियों को जेल से छुडाने जैसी मांग भी रख सकता हैं । अभी तो हम सी एम और उनके साथ गए 5 लोगों को सही सलामत होने का प्रार्थना ही कर सकतें हैं । मुझे एक बात से आश्चर्य होता हैं कि इलेक्ट्रानिक मिडिया अभी तक मुख्यमंत्री के साथ गए 5 लोगों का नाम भी नहीं बताया हैं । आश्चर्य तो बस्तर में हुए हेलीकॉप्टर दुर्घटना का होता हैं जिसमें अनेक साथियों के साथ एक एस पी भी शहीद हो गए थे , उस समय महिनों बाद ही हेलीकॉंप्टर का मलवा मिल पाया था , मुझे शायद दोनों घटनाओं को एक करके नहीं देखना चाहिए ,परन्तु कभी -कभी कुछ घटनाओं को भूलाया नहीं जा सकता । कुछ नाजुक घटनाओं पर सभी का रवैया सहानुभूति पूर्वक होना चहिए ,ऐसी घटनाओं को बड़े छोटे का भेद भाव भुल कर सेवा भाव से सभी को क्षमतानुसार आगे आकर अपनी हिस्सेदारी का निर्वाहन करना चाहिए । हम सब ईश्वर से प्रार्थना करें कि राजशेखर रेड्डी और हेलीकॉप्टर में सवार अन्य 5 साथि सुरक्षित रहे, उनके परिवार को इस दुख के समय में ईश्वर मदद करें1

1 टिप्पणी:

  1. आपके ब्‍लाग के माध्‍यम से एक बार फिर प्रार्थना करती हूं कि ईश्‍वर उनकी रक्षा करे !!

    उत्तर देंहटाएं

translator